window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); जिले में शिक्षा का गिरता स्तर चिंता का विषय जिले में कई ऐसे लोग स्कूल जहां पर टीचरों को ही नहीं मालूम कि जिले के कलेक्टर कौन है और जिले के एसपी कौन हैं कुछ को तो जिला शिक्षा अधिकारी का नाम भी नहीं मालूम । - MPCG News

जिले में शिक्षा का गिरता स्तर चिंता का विषय जिले में कई ऐसे लोग स्कूल जहां पर टीचरों को ही नहीं मालूम कि जिले के कलेक्टर कौन है और जिले के एसपी कौन हैं कुछ को तो जिला शिक्षा अधिकारी का नाम भी नहीं मालूम ।

लोकेशन
जिला सुरजपुर प्रतापपुर रमकोला छत्तीसगढ़
संवाददाता शत्रुघन तिवारी

 

जी हां आपको बताते चलें कि इन दोनों सूरजपुर जिले में शिक्षा का स्तर बिल्कुल गिरते जा रहा है जिले में पदस्थ कई ऐसे स्कूल टीचर हैं जिन्हें जिला शिक्षा अधिकारी का नाम ही नहीं पता और ना ही कलेक्टर का नाम पता है और न हीं एसपी का नाम पता है और बेसिक जानकारी अगर उनसे कोई पूछ ले तो वह उसे भी नहीं बता पाएंगे,,,
जानकारी अनुसार जिले में कई ऐसे शिक्षक हैं जिनके खुद के बच्चे प्राइवेट स्कूलों में शिक्षा ले रहे हैं और दूसरी तरफ ग्रामीण गरीबों के बच्चे शासकीय स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने जाते हैं,,,
वहां के स्कूल के टीचरों को खुद ही कुछ पता ही नहीं तो वह ग्रामीण गरीब बच्चों को क्या पढ़ाएंगे यह भी एक चिंता का विषय है,,
आपको बताते चलें की ताजा मामला प्रतापपुर ब्लॉक अंतर्गत ग्राम रमकोला पंडोपारा प्राथमिक शाला स्कूल का है जहां पर पदस्थ महिला शिक्षक को यह नहीं पता कि जिले के शिक्षा अधिकारी कौन है और जिले के कलेक्टर कौन है और न हीं जिले के पुलिस कप्तान का नाम पता है यदि शिक्षा का यही स्तर रहा तो ग्रामीणों के गरीब बच्चों के भविष्य का क्या होगा,
और स्थानीय ग्रामीणों के हवाले से रमकोला के ही माध्यमिक शाला के दो शिक्षक पिछले कुछ दिनों पूर्व स्कूल में ही बैठकर शराब का सेवन कर रहे थे जिसकी जानकारी ग्रामीणों के द्वारा उच्च अधिकारियों को दी गई तो संबंधित विभाग के अधिकारी मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी शिक्षक के खिलाफ नोटिस जारी किया गया है,
और सबसे गंभीर बात यह है कि जिले में गिरता शिक्षा का स्तर को लेकर यदि कोई ग्रामीण या पत्रकार इनसे कोई सवाल पूछता है तो यह उन पर ही अवैध वसूली या धमकाने का आरोप लगाते हैं,

अब देखने वाली बात यह होगी कि जिले के कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी मामले को कितना गंभीरता से लेते हैं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। प्राइम्स टीवी न्यूज से शत्रुघन तिवारी कि रिपोर्ट।

Related posts

प्रिंट रेट से ज्यादा कीमत में शराब की बोतलें बेचने पर सुल्तानपुर की शराब दुकान को किया सील, मची हड़कंप

MPCG NEWS

इतनी शिद्दत से निभायो अपना किरदार की पर्दा गिरने के बाद भी तालियां बजती रहे

MPCG NEWS

होम वोटिंग कराने वाले मतदान दल एवं माइक्रो ऑब्जर्वर को दिया गया प्रशिक्षण

MPCG NEWS

Leave a Comment