window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); जुन्नारदेव: रेत चोरी में अव्वल बिट्टू और चमन: अवैध गतिविधियों का गढ़ बना नवेगांव क्षेत्र - MPCG News

जुन्नारदेव: रेत चोरी में अव्वल बिट्टू और चमन: अवैध गतिविधियों का गढ़ बना नवेगांव क्षेत्र

चाँदनी रातो में पिले सोने की तस्करी जोरो पर, तस्करी रोकने में विभाग नाकाम ?

दिया तले अंधेरा में है नवेगांव थाना, क्या रेत चोरो को नही है किसी कार्यवाही का डर ?

जुन्नारदेव/जीत आम्रवंशी, छिंदवाड़ा जिले में रेत खदानो से रेत निकलना शुरू हो गयी बावजूद इसके पिले सोने मतलब रेत की सप्लाई का काम जोरो पर है लगभग दो माह से नदियों से रेत निकालने में रेत चोरो को सफलता मिल रही है। इस गोरखधंधे को रोकने में नाकाम साबित करने वाले प्रशासन या फिर साठगांठ यह को कार्यवाही होने के बाद ही पता चलेगा।

दरअसल मामला छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव अंतर्गत थाना नवेगांव क्षेत्र का है जहाँ चांदनी रातो में रेत निकालने का काम जोरो से चल रहा है और प्रशासन को इसकी भनक भी नही। जी हां आपको बता दे राजस्व विभाग हो या पुलिस विभाग इनको थोड़ा सा भी फर्क नही पड़ता क्योकि या तो ऊपरी स्तर के अधिकारियों की जेब में मोटी रकम से भर दी गई या फिर ऐसा कहे कि क्षेत्र के अधिकारी के संरक्षण में अवैध कामों को करवाया जा रहा हो। जरा सोचिए कि चलते ट्रैक्टर के पहिये से उड़ने वाली धूल भी नवेगांव थाना में जा घुसती है महज इतनी ही दूरी होगी जहाँ धड़ल्ले से रेत से भरे ट्रैक्टर रात भर दौड़ते है। तब भी हम यही कहेंगे कि प्रशासन को इसकी जानकारी नही है ?

इसे भी पढ़े – छिंदवाड़ा: जनपद CEO और आदिवासी को हाथापाई, युवक को जातिवाद शब्द कहने को लेकर हुआ विवाद

दिया तले अंधेरा कहे या अंधेरी रात में दिया तेरे हाथ मे कहे

दिन ढलते ही हिरदागढ़ के दो पार्टनर बिट्टू यदुवंशी और चमन यदुवंशी अपना अवैध कारोबार में लिप्त हो जाते है। इतना ही नही हिरदागढ़ के ब्रजपुरा में कन्हान नदी का दो माह से सीना छलनी कर रहे है और आज तक विभाग के हाथ में कोई सुराग नही लगा। और कार्यवाही करेगा भी कौन ? प्रशासन या विभाग तभी कोई कार्यवाही के लिए आगे आएगा जब अवैध काम करते समय ट्रैक्टर वाहन से कोई दुर्घटना हो जाये।

इसे भी पढ़े –छिंदवाड़ा: ट्रैक्टर और बाइक में भिड़ंत से दो की मौत, एक गंभीर

रोजाना रात में 50 से 100 ट्रैक्टर ट्राली होती है रेत सप्लाई

आपको बता दे कि शाम ढलते ही दोनों पार्टनर के चार से पाँच ट्रैक्टर कन्हान नदी में हमला करने के लिए तैयार रहते है। पूरी रात में सुबह 6 बजे तक लगभग 50 से 100 ट्राली रेत होती है सप्लाई। मानो इतनी भारी मात्रा में अवैध काम करने अकेले दोनों पार्टनर के बस की बात नहीं है। बिना किसी संरक्षण के दोनों पार्टनर अपने काम को अंजाम नही दे सकते है ? खबरों के माध्यम से नवेगांव थाना और खनिज विभाग को भी जानकारी दी जाती है बावजूद दोनों विभाग अपना पल्ला झाड़ते नजर आए। खैर अब देखना यह होगा कि कौनसा विभाग के तरफ से होगी कार्यवाही ? या फिर ऐसा कहे कि दोनों पार्टनर बिट्टू और चमन इनको किसी कार्यवाही का डर नही है ?

इनका कहना है-

रेखा देशमुख, तहसीलदार जुन्नारदेव
मैं अभी बात करती हूं खनिज अधिकारी से और में आश्वासन नही कार्यवाही करूंगी।

अभिषेक उपाध्याय, थाना प्रभारी नवेगांव
खनिज का मामला है जब तक में खनिज अधिकारी से बात नही करता तब तक आपको कोई जानकर नही दे सकता।

बसंत पाटिल, खनिज निरीक्षक जुन्नारदेव
नवेगांव हिरदागढ़ किधर है मुझे नही पता, मैं सभी दिन जा रहा हु वहाँ पर।

अगले अंक में देखे : आखिर किसके संरक्षण में चल रहा रेत चोरी का खेल ?

Related posts

क्राइम: दो महिलाओं को जिंदा दफनाने की कोशिश, जमीनी विवाद के चलते धरने पर बैठी महिलाएं

MPCG NEWS

सरगुजा रेंज पुलिस ने पावर प्लांट में किया 3 करोड़ रुपए के 13 क्विंटल से अधिक गांजा सहित अन्य नशीले वस्तुओं का नष्टीकरण।

MPCG NEWS

Betul Crime: महिला को टक्कर मारने वाले बाइक चालक को एक साल की सजा

MPCG NEWS

Leave a Comment