window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); ♨️प्रधानमंत्री जी जबाब दो♨️ समय और आर्थिक बरबादी के लिए जिम्मेवार कोन। - MPCG News

♨️प्रधानमंत्री जी जबाब दो♨️ समय और आर्थिक बरबादी के लिए जिम्मेवार कोन।

लोकेशन गाडरवारा

रिपोर्टर जगमोहन कौरब

 

 

♨️प्रधानमंत्री जी जबाब दो♨️

समय और आर्थिक बरबादी के लिए जिम्मेदार कोन।

 

 

स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) की सदस्य एवं न्यू क्रिएशन इंटरनेशनल हाई स्कूल बसुरिया की छात्रा रौनक वर्मा ने एक विज्ञप्ति जारी कर केंद्र सरकार की पी एम यशस्वी छात्रवृति योजना को छात्रों से मजाक करना बताया है एवं प्रधानमन्त्री जी से जवाब मांगा है।

रौनक वर्मा ने प्रधानमन्त्री जी को एक पत्र भी लिखकर भेजने का तय किया है जिसमें छात्रों के समय और आर्थिक बर्बादी की भरपाई किए जाने मांग की जाएगी जिसे सभी छात्र छात्राओं से भी प्रधानमन्त्री जी को खत लिखने आव्हान भी किया है।

सरकार द्धारा पीएम यशस्वी छात्रवृत्ति योजना के तहत कक्षा 9वी एवं कक्षा 11वी के छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति योजना जारी की थी जिसकी एग्जाम डेट 29सितंबर को होना निश्चित हुआ था। इस एग्जाम में पास होने वाले कक्षा 9वी के छात्र छात्राओं को 75,000 की राशि एवं कक्षा 11वीं के छात्र छात्राओं को 1,25000 जिसमें 15,000 छात्र छात्राओं को को छात्रवृत्ति का लाभ दिए जाने योजना जारी की थी। 383.65 करोड़ रुपए पूरे भारत के पेपर में चयनित छात्र छात्राओं को दिये जाने का प्रावधान था।इस परीक्षा के फॉर्म 11 जुलाई से डालने चालू हो गए 29 सितंबर को इसका पेपर आयोजित होना था, एग्जाम के 2दिन पहले 26-27 सितंबर को जानकारी मिली कि पेपर कैंसिल हो गया है।

=इस योजना में आर्थिक स्थिति से उलझे हुए छात्र छात्राओं ने फॉर्म डाला यही सोचकर कि उन्हें छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा।

=कई बच्चों ने पुस्तक भी खरीद ली जिनका मूल्य 260 से 300रु रुपए तक था भारत के लाखों बच्चों ने फॉर्म डाला यहां तक की उन बच्चों ने भी जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी।

=छात्र-छात्राओं ने अच्छी से अच्छी कोचिंग क्लास लगवाई जिन में फीस 700 से 800 रु की राशि प्रतिमाह थी।

=पुस्तकों का मूल्य कोचिंग की फीस इन सबको मिलाकर करोड़ो रुपए छात्र छात्राओं ने दिए ।

=छात्र-छात्राओं ने भी इस योजना का लाभ लेने हेतु फॉर्म डाले थे, कुछ छात्र छात्राओं ने तो जिनके परिवार में भोजन तक की व्यवस्था ठीक तरीके से नहीं थी, उन गरीब परिवारों के बच्चों ने यह सोचकर जी तोड़ मेहनत की कि अब अार्थिक तंगी हमारी पढ़ाई में आड़े नहीं आयेगी । आज हम बच्चों का समय इस एग्जाम की तैयारी में लगा वह समय कही और लगाकर सफलता पाते कि समय की बर्बादी और आर्थिक बर्बादी का जिम्मेवार आखिर कोन । प्रदेश के लाखों छात्र छात्राओं एवं देश भर के करोड़ों छात्र छात्राओं के समय और आर्थिक बर्बादी का जबाबदार आखिर कोन, इतना बड़ा मजाक हम मासूम छात्र छात्राओं से क्यों❓

प्रधानमंत्री जी जवाब दो

रौनक बर्मा ग्राम झामर

कक्षा 9वीं

न्यू क्रिएशन इंटरनेशनल हाई स्कूल बसुरिया

विकास खंड चीचली

तहसील गाडरवारा

जिला नरसिंहपुर

Related posts

Transfer ब्रेकिंग: बैतूल SP समेत 32 जिलों के बदले गए 75 IPS अधिकारी

MPCG NEWS

आम सहमति बनाकर मुलताईं को जिला बनाने का प्रयास करेंगे- शिवराज सिंह चौहान

MPCG NEWS

छिंदवाड़ा: राष्ट्रीय हिंदू सेना द्वारा वैलेंटाइन डे का फूका पुतला किया विरोध

MPCG NEWS

Leave a Comment