window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); साची के वार्ड नं 1 श्मशान में गिरते पड़ते ले जाना पड़ता अर्थियां - MPCG News

साची के वार्ड नं 1 श्मशान में गिरते पड़ते ले जाना पड़ता अर्थियां

रिपोर्टर जिला रायसेन राजू बैरागी

सांची

बैसे तो इस स्थल पर लगातार विकास के दावों की दास्तान किसी से छिपी नहीं है
परन्तु इन दावों की कल ई वार्ड
नं1में स्थित श्मशान पहुंच मार्ग
बयां कर रहा हैं जब मनुष्य को अंतिम संस्कार के लिए भीशवों को दल- दल से होकर गुजरने
पर मजबूर होना पड़ रहा है न तो
प्रशासन ने ही शासन की ही नजर
पहुंच पा रही है इससे लोगों में रोष बढ़ रहा है
जानकारी के अनुसार नगर की प्रसिद्ध किसी से छिपी नहीं है तथा बावजूद इसके नगर के वार्ड नं 1 में स्थित श्मशान घाट जिसे इस स्थल पर अंतिम संस्कार करने हेतु आजादी के बाद अस्तित्व में लाया गया था तब यह नगर के बाहरी क्षेत्र में हुआ करता था परन्तु धीरे-धीरे समय आगे बढ़ा बैस बैस ही नगर कीआबादी बढ़ती गई तथा अब श्मशान के
आसपास तक आबादी फैल गई
इस श्मशान घाट तक पहुंच मार्ग दल दल में तब्दील हो जाता है तब से अब तक जहां मनुष्य संसार को त्याग कर अपनी देह
छोड़ जाता है तब परिवार एवं नगर वाले इस देह के अंतिम
संस्कार करने श्मशान घाट पहुंचते हैं किसी समय यह श्मशान पूरे नगर के लिए एक मात्र हुआ करता था अब जबकि नगर में वार्ड नं7-10-12-में श्मशान घाट
निर्मित किए जा चुके है तथा सभी
श्मशान में प्रशासन द्वारा लाखों रुपए खर्च कर दिए तथा इन श्मशानों के पहुंच मार्ग भी निर्मित किए जा चुके है परन्तु आज भी वार्ड नं1 में स्थित श्मशान घाट ।

जहां लगभग आठ वार्ड के मृतकोंं का
अंतिम संस्कार किया जाता है
आज भी पहुंच मार्ग के लिए
तरस रहा है इस श्मशान घाट पहुंच मार्ग घुटने घुटने दल दल
का रूप ले लेता है तब इस श्मशान पर अंतिम संस्कार होतु
ले जाने वाली अर्थियां लेकर चलना मुश्किल हो जाता है कभी-कभी तो ऐसा भी नजारा देखने को मिल जाता है जब लोगों
को अंर्थियां लेकर दल दल में गिरने मजबूर होना पड़ता है जबकि इस स्थल के गली कूचों तक मार्ग निर्मित किए गए।मगर
इस अंतिम संस्कार करने पहुंचने आज भी पहुंचे मार्ग की दरकार बनी हुई है हालांकि बासियों ने सैकड़ो बर आवेदन निवेदन किये
बावजूद इसके इस श्मशान को पहुंचे मार्ग नहीं मिल सका बताया जाता है कि लगभग चार साल पहले इस क्षेत्र के विधायक एवं सरकार में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभु राम चौधरी द्वारा उसका भूमि पूजन भी किया है जा चुका था परन्तु यह मार्ग भूमि पूजन तक ही
सिमट कर रह गया हालांकि इस मार्ग का पार्षद में प्रस्ताव भी पारित किया जा चुका है बावजूद इसके इस मार्ग का उद्धार नहीं किया जा सका जिसका खामियाजा शवों के साथ
शवयात्रा में शामिल लोगों को भुगतान पड़ रहा है इससे नगर
वासियों में रोष बढ़ रहा है इस मामले में इनका कहना है हमने पार्षद में इस मार्ग के निर्माण का प्रस्ताव भी पारित करा लिया है तथा सैंकड़ों बार अध्यक्ष से निर्माण की मांग की परन्तु भेदभाव के चलते निर्माण नहीं हो पा रहा है जबकि चार वर्ष पूर्व इस
मार्ग का मंत्री जी द्वारा भूमि पूजन भी किया जा चुका है उसके बाद भी शवों को दल दल से होकर गुजरना पड़ रहा हैं बलराम मालवीय वार्ड पार्षद एवं पूर्व अध्यक्ष नप हमने अनेकों बार नगर परिषद सहित मंत्री जी से इस श्मशान घाट की मार्ग निर्माण
की मांग रखी परन्तु निर्माण नहीं हो सका जिससे लोगों में शेष
व्यास हो गया है
कमल किशोर पटेल समाज सेवा सांची।बडा दभईग्य है कि आज अंतिम यात्रा ले जाने के लिए दल दल मे से होकर गुजरना पड़ रहा है परन्तु इस सड़क का निर्माण नहीं हो सका शक्यात्रा में शामिल लोगों को दाल दाल में गिरते (पड़तेचलना पड़ रहा रहा है सीएल तिवारी वरिष्ठ समाजसेवी सांची

Related posts

राष्ट्रीय सेवा योजना की छात्राओं ने चलाया स्वच्छता अभियान

MPCG NEWS

MP ब्रेकिंग: नकल मामले में 22 शिक्षकों पर गिरी गाज, 5 संविदा शिक्षकों की सेवा समाप्त

MPCG NEWS

मतदाता जागरूकता अभियान के तहत विभिन्न प्रतियोगिताओं का हुआ आयोजन’

MPCG NEWS

Leave a Comment