window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); फ़ैक्टरियों पर बाल श्रम संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने मारा मण्डीदीप रायसेन में छापा - MPCG News

फ़ैक्टरियों पर बाल श्रम संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने मारा मण्डीदीप रायसेन में छापा

दैनिक प्राईम संदेश जिला ब्यूरो चीफ राजू बैरागी जिला

रायसेन

जिले के मण्डीदीप की पारले जी और सेहतगंज रायसेन की सोम डिस्टलरीज शराब फैक्ट्रियों में बाल श्रम संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ प्रियंक कानूनगो द्वारा छापा मार कार्रवाई की गई।जिससे हड़कंप मचा रहा।
पारले जी बिस्कुट बनाने कंपनी मंडीदीप सहित एक अन्य शराब अश्वनी सेहतगंज कंपनी से 36 बच्चों का कराया गया रेस्क्यू फैक्ट्री के बाहर बोर्ड पर लिख रखा था-बाल श्रम अपराध है, फिर भी नाबालिगों से कराया जा रहा था काम।
मध्यप्रदेश की राजधानी से लगे रायसेन ज़िले के औद्योगिक शहर मंडीदीप में 2 फैक्ट्रियों से 36 नाबालिग बच्चों का रेस्क्यू किया गया है। राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग विभाग ने इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया है। कंपनी ने बचने के लिए बाहर बोर्ड लगाया हुआ था कि बाल श्रम अपराध है और उनके यहां कोई श्रमिक काम नहीं करता है ।लेकिन फैक्ट्री के अंदर कानून को ताक में रख कर धड़ल्ले से बच्चों से काम करवाया जा रहा था। इनमें से एक नामी कंपनी पारले जीमंडीदीप मेँ बिस्कुट बनाने का काम करती है। जहां से 21 बच्चों को रेस्क्यू किया गया।दरअसल मंडीदीप के न्यू इंडस्ट्रियल एरिया की एल एम बेकर्स जहां पारले जी बिस्कुट बनाए जाते हैं।और एक अन्य कंपनी जीके इलेक्ट्रिकल्स कंपनी से 36 बाल श्रमिको को रेस्क्यू कराया गया है।एक एनजीओ के माध्यम से राष्ट्रीय बाल श्रम संरक्षण आयोग ने कार्रवाई करते हुए सभी का रेस्क्यू किया। इसके बाद बाल श्रमिकों को आयोग की टीम भोपाल ले गए। श्रमिकों की जांच करने पर 21 बाल श्रमिक पाए गए हैं।राष्ट्रीय बाल श्रम आयोग अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने बताया कि छापामार कार्यवाही के दौरान 21 बाल श्रमिक पारले जी बिस्कुट बनाने वाली एल एम ब्रेकर्स कंपनी मंडीदीप में काम करते पाए गए थे।इसकी सूचना मिलने पर यह कार्रवाई की गई और सभी को रेस्क्यू किया गया।हम आपको यह बता दें कि मंडीदीप में कई फैक्ट्रियां हैं। ऐसे में आशंका है कि अन्य कई कंपनियों में भी बाल श्रम कराया जाता है ऐसे में उनके ऊपर भी जांच पड़ताल की जा सकती है।
श्रम निरीक्षक रामकुमार श्रीवास्तव निलंबित…. क्या सोम डिस्टलरीज सेहतगंज के मालिक जगदीश अरोरा पर भी होगी कानूनी कार्यवाही….
बाल श्रम संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो की इस छापामार कार्रवाई के बाद से प्रदेश की डॉ मोहन यादव सरकार भी एक्शन मोड पर है।क्या सोम डिस्टलरीज सेहतगंज के मालिक जगदीश अरोरा पर भी कानूनी कार्यवाही होगी।श्रम निरीक्षक मंडीदीप रामकुमार श्रीवास्तव के अलावा प्रभारी जिला आबकारी अधिकारी कन्हैया कुमार अतुलकर,आबकारी उपनिरीक्षक प्रीति शैलेन्द्र उईके शैफाली वर्मा और मुकेश कुमार को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड किया गया है।

प्रियंक कानूनगो
अध्यक्ष राष्ट्रीय बाल
संरक्षण आयोग।

Related posts

जनसुनवाई में कलेक्टर दुबे ने किया नागरिकों की समस्याओं का निराकरण

MPCG NEWS

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मप्र राजन ने रायसेन में मतगणना स्थल का निरीक्षण कर मतगणना की तैयारियों का लिया जायजा

MPCG NEWS

बारिश शुरू होते ही नलों में फिर आने लगा गंदा बदबूदार पानी पार्षद से लेकर नपाध्यक्ष, नपा अधिकारियों से नागरिकों ने की शिकायत

MPCG NEWS

Leave a Comment