window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); घोड़ाडोंगरी: निर्वाचन कार्य में लापरवाही, दैनिक वेतन भोगी को कार्य से किया पृथक - MPCG News

घोड़ाडोंगरी: निर्वाचन कार्य में लापरवाही, दैनिक वेतन भोगी को कार्य से किया पृथक

पत्रकारों तक कार्यालय की जानकारी पहुंचाने और कार्यालय की गोपनीयता भंग करने पर हुई कार्यवाही

जीत आम्रवंशी

घोड़ाडोंगरी। लंबे समय से घोड़ाडोंगरी ग्राम पंचायत से लेकर नगर परिषद में अपना रोप रखने वाले दैनिक वेतन भोगी को आखिरकार बाहर का रास्ता दिखा ही दिया गया। नगर परिषद सी एम ओ यादव द्वारा निर्वाचन कार्य में लापरवाही और कार्यालय की जानकारी पत्रकारों को देने और कार्यालय की गोपनियता भंग करने के आरोप में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी नल् खोलने वाले ओम पवार को दैनिक वेतन भोगी कार्य से पृथक कर दिया गया। उक्त कार्यवाही से श्री यादव की क्षेत्र में प्रशंसा हो रही है।

नेतागिरी के चलते मिला था राजस्व जैसी प्रमुख शाखा का प्रभार

बताया जाता है कि नल खोलने के कार्य के लिए रखे गए दैनिक  वेतन भोगी कर्मचारी ओम पवार को नेतागिरी के चलते ही राजस्व का प्रभार मिला था जबकि शासकीय अधिकारी नगर परिषद घोड़ा डोंगरी को दिए गए किंतु अध्यक्ष और पत्रकारों की सहायता से इन सरकारी कर्मचारियों को नगर परिषद के प्रमुख दायित्वो वाले कामों से दूर रखा गया और दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी ओम पवार से करवाया जा रहा था।

वर्षो से नगर परिषद कार्यालय में था दबदबा

घोड़ाडोंगरी नगर परिषद में नगर परिषद बनने के पूर्व से ही वर्षों से पदस्थ दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी ओम पवार एवं संजू साहू की नेतागिरी से लोग वैसे ही बहुत परेशान थे आए दिन इन लोगों की शिकायत आती रहती थी किंतु दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी होने के कारण इन पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई।
लेकिन नए सीएमओ यादव के आने के बाद संजय साहू को घोड़ाडोंगरी नगर परिषद से हटाने के बाद नगर परिषद घोड़ाडोंगरी की स्थिति में जान आई। आज निर्वाचन कार्य में लापरवाही और कार्यालय की गोपनीयता भंग करने के कारण दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी ओम पवार को दैनिक वेतन भोगी कार्य से पृथक किया गया।

नेतागिरी के दम पर अधिकारी को टिकने नहीं देते थे

नगर परिषद घोड़ाडोंगरी जब भी कोई अच्छा ईमानदार शासकीय अधिकारी अथवा कर्मचारी आता है उस अधिकारी या कर्मचारी को उन्ही दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के अनुरूप ही चलना पड़ता है अन्यथा उसे नेतागिरी और पत्रकारों के दम पर झूठे आरोप में बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता लंबे समय से घोड़ाडोगरी नगर परिषद में यही होता आया है।  यादव द्वारा उक्त कार्यवाही के बाद भी शायद उन्हें भी किसी झूठे आरोप में फंसा कर बाहर का रास्ता दिखाने का ढोंग रचाया जाए यहां घोड़ाडोंगरी नगर परिषद के लिए कोई नई बात नहीं।

Related posts

Betul News: अन्नदाता की मेहनत की कमाई पर आग ने फेरा पानी, 2 एकड़ खेत मे खड़ी गेंहू की फसल जलकर राख

MPCG NEWS

सारणी: स्कूटी और ट्रक की भिड़ंत में रेलवे कर्मी की मौत, 3 बच्चों की हालत गंभीर

MPCG NEWS

घोड़ाडोंगरी का मुख्य चौराहा पर हाई मास्क लगने के बाद भी अंधेरा

MPCG NEWS

Leave a Comment