window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); हंगामेदार रही नगरपालिका परिषद की बैठक, बाजार ठेका होगा निरस्त - MPCG News

हंगामेदार रही नगरपालिका परिषद की बैठक, बाजार ठेका होगा निरस्त

ठेकेदार का भुगतान, एलईडी और कोराेना काल में हुई नियुक्तियों की होगी जांच

मुलताई। नगर पालिका परिषद के सभाकक्ष में मंगलवार को आयोजित परिषद की बैठक हंगामेदार रही। जिसमे भाजपा पार्षदो द्वारा प्रस्तावो पर जमकर हंगामा मचाया। वही बैठक के शुरू होते ही सभापति अंजलि शिवहरे ने कहा की बैठक के कारण रक्षाबंधन पर महिला जनप्रतिनिधि अपने घर नही जा पाई। अधिकारियों को त्योहार के पहले बैठक रखने से पहले एक बार पूछ लेना चाहिए। बैठक में चर्चा के लिए 22 विषय रखे गए थे। जिसमे से ज्यादातर मुद्दों को निरस्त कर दिया गया, जबकि कुछ को अगली बैठक के लिए टाल दिया गया। सीवर लाइन ठेकेदार को हुए भुगतान, एलईडी खरीदी और मरम्मत सहित कर्मचारियों को रखे जाने पर जमकर बहस हुई।बैठक में  मप्र शासन नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्रालय के पत्र अनुसार हाथ ठेला, फेरी वाले, रेहड़ी वाले से तहबाजारी, बाजार बैठकी शुल्क बंद किया जाकर  एक मुश्त 10 फुट की दुकानों वालो से 3000 रुपए तो 5 फुट की दुकान के 1500 रुपए वार्षिक लिए जाएंगे। वहीं सीवर लाइन के ठेकेदार को 1 करोड 27 लाख रुपए का भुगतान करने के मामले में भाजपा की पार्षद वर्षा गढ़ेकर ने परिषद में सवाल उठाया कि ठेकेदार से ऐसा कौन सा लाभ मिलना था, जिसके लिए उसे ताबड़तोड़ इतनी बड़ी राशि का भुगतान कर दिया गया, जबकि मेने इसका भुगतान नहीं किया था। उन्होंने कहा कि ठेकेदार के भुगतान के लिए शासन को पत्र तक लिख दिए गए, जबकि अधिकारियों ने कर्मचारियों के वेतन के लिए कभी पत्र नहीं लिखा। हालांकि करीब 7 करोड़ की सीवर लाइन योजना में अभी तक शासन से कुल 3 करोड़ 75 लाख रुपए परिषद को प्राप्त हुए है, जिसमे से कुल 2 करोड़ 54 लाख रुपए का भुगतान ठेकेदार को किया गया है, जिसमे से 1करोड़ 27 लाख का भुगतान परिषद की संचित निधि में से किया गया। अधिकांश पैसा कोरोना काल में खरीदी करने में खर्च कर दिया गया। जबकि अभी तक सड़क मरम्मत सहित सीवर लाइन का 35 प्रतिशत काम बाकी है। जिसकी जांच की मांग की गई।बैठक में एसडीएफएम योजना में निकाय क्षेत्र अंतर्गत बारिश के पानी निकासी के लिए परिषद द्वारा विभिन्न नालों का पुनर्निर्माण कराया जाने के लिए 10 करोड़ 52 लाख रुपए की डीपीआर बनाई गई थी, जिसमें कुछ नालों को शामिल नहीं किया गया था। वर्षा गढ़ेकर और शिल्पा शर्मा ने अपने वार्डों के नालों को भी इसमें शामिल कर नई डीपीआर बनाने की मांग रखी।

भक्त निवास और शॉपिंग कांप्लेक्स निर्माण स्थान परिवर्तन पर नहीं बनी सहमति

पहले टेकड़े वाले स्कूल परिसर में शॉपिंग कांप्लेक्स और कन्या प्राथमिक शाला परिसर में भक्त निवास बनाया जाना था। जिसका स्थान परिवर्तन करते हुए टेकड़े वाले स्कूल परिसर में भक्त निवास और कन्या प्राथमिक शाला परिसर में शॉपिंग कंपलेक्स निर्माण कराए जाने का प्रस्ताव रखा गया। जिस पर सहमति नहीं बन पाई और वर्षा गढ़ेकर द्वारा इसे पहले निरस्त कर दिया गया। बाद में अगली बैठक के लिए रखा गया। सभापति अंजलि शिवहरे ने कहा की मां ताप्ती के दर्शन करने आने वाले भक्तो के लिए बनाई जाने वाले भक्त निवास पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, स्थान परिवर्तन करने से बेहतर भक्त निवास बनाया जा सकेगा। साथ ही शापिंग कांपलेक्स भी मैन बाजार के पास होगा जिससे दुकानदारों को फायदा होगा।

Related posts

MP Board Exam: विषय के हिसाब से तैयार हो रही उत्तर पुस्तिका, आदेश जारी

MPCG NEWS

लाड़ली बहना योजना फॉर्म डाक्यूमेंट्स; 08 मार्च 2023 से भरे जायेंगे फॉर्म, ये दस्तावेज रखे तैयार

MPCG NEWS

घोड़ाडोंगरी: सड़क किनारे हुए अवैध अतिक्रमण की हुई शिकायत

MPCG NEWS

Leave a Comment