window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); छिंदवाड़ा: नए साल के दिन नाबालिग मनरेगा मजदूर की मिट्टी धंसने से मौत - MPCG News

छिंदवाड़ा: नए साल के दिन नाबालिग मनरेगा मजदूर की मिट्टी धंसने से मौत

पंचायत सचिव, उपयंत्री की लापरवाही आयी सामने, पिता की जगह तालाब में मजदूरी करने गया था बालक

छिंदवाड़ा। जिले के हर्रई के मनरेगा योजना के तहत बनाए जा रहे एक तालाब निर्माण में नाबालिग बच्चे से काम कराया जा रहा था, तभी अचानक मिट्टी खोदने के दौरान मुरम धंसने से वह दब गया और उसकी मौत हो गई। मामले के बाद ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मृत बच्चे के शव को पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा वहीं मामले में कार्रवाई की बात कही है।

इसे भी पढ़े :जुन्नारदेव: रेत चोरी में अव्वल बिट्टू और चमन: अवैध गतिविधियों का गढ़ बना नवेगांव क्षेत्र

पुलिस के मुताबिक वाक्या रविवार सुबह 11 बजे के आसपास का है, ग्राम पंचायत सूखापुरा के ग्राम पट्टी में मनरेगा योजना के अंतर्गत अमृत सरोवर तालाब का निर्माण कार्य चल रहा था, जहां मनरेगा के मजदूर मिट्टी की खुदाई कर रहे थे तभी अचानक मिट्टी का एक हिस्सा नीचे धंस गया। जिससे नीचे काम कर रहे सुनील पिता ज्ञानशाह इवनाती 15 साल उसकी चपेट में आ गया और उसकी दबने से मौत हो गई। इस दौरान उसके साथ काम कर रहे गोविंद यादव 39 और बालक राम धुर्वे 40 भी बुरी तरह से घायल हो गए, जिन्हे हर्रई प्राथमिक केंद्र में एडमिट कराया गया है। घटना के बाद मृतक के परिजन और रिश्तेदार मौके पर पहुंच गए थे तथा उन्होंने काम बंद कराकर उचित मुआवजे की मांग करते हुए तत्काल कार्रवाई की मांग की, जिसके बाद पुलिस ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

पिता की जगह मजदूरी करने गया था बालक

पुलिस के मुताबिक 15 वर्षीय सुनील नामदेव के पिता ज्ञानशाह मनरेगा के तहत तालाब में मजदूरी करने गए हुए थे तभी अचानक उन्हे कोई काम आ गया और गैरहाजरी ना लगे इसलिए उन्होंने अपने बेटे को यहां पर काम पर भेजा था, लेकिन शायद उन्हे यह पता नहीं था कि यहां मिट्टी में दबकर उनके बेटे की मौत हो जाएगी। फिलहाल परिजनों का इस घटना के बाद रो रोकर बुरा हाल है।

सिर में चोट लगने से हुई मौत

पुलिस के मुताबिक जहां पर मिट्टी धंसने से हादसा हुआ उसे देखकर यह नहीं लगता है कि मिटटी में दबने से बच्चे की मौत हुई होगी, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि बच्चा यह जब काम कर रहा था तभी अचानक मिटटी नीचे गिरी तो मुरम का एक बड़ा सा हिस्सा नीचे गिरा होगा जिसके कारण सिर में गंभीर चोंट आने के कारण उसकी मौत हुई होगी फिलहाल पुलिस ने मामले को जांच में लिया है।

सचिव की लापरवाही आई सामने

शासन के सख्त निर्देंश है कि मनरेगा योजना के तहत जो काम कराए जा रहे है उसमें नाबालिग से काम नहीं लिया जाए लेकिन सूखापुरा पंचायत सचिव ने यहां नाबालिग बच्चे को ही काम पर लगा दिया जिस पर उपयंत्री और सचिव की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे है, साथ ही कार्रवाई की मांग उठ रही है।

Related posts

MP में आचार संहिता लगने के बाद अलर्ट, रात 10 बजे के बाद लाउडस्पीकर पर रोक

MPCG NEWS

बेटी की विवाह के लिए लोन लेकर लिया आभूषण, एक युवक ने घर मे घुसकर मारपीट कर लेकर हुआ फरार

MPCG NEWS

सारणी: उत्कल उड़िया समाज के जिला अध्यक्ष बने कुबेर डोंगरे

MPCG NEWS

Leave a Comment