window.dataLayer = window.dataLayer || []; function gtag(){dataLayer.push(arguments);} gtag('js', new Date()); gtag('config', 'G-VQJRB3319M'); क्या ब्लास्टिंग कंपनी के आगे बौना साबित हुआ बैतूल जिले का प्रशासन ?  - MPCG News

क्या ब्लास्टिंग कंपनी के आगे बौना साबित हुआ बैतूल जिले का प्रशासन ? 

क्या ब्लास्टिंग कंपनी के आगे बौना साबित हुआ बैतूल जिले का प्रशासन ?

 

 

ICEM कंपनी की मनमानी से पर्यावरण का हो रहा नुकसान

 

एनजीटी न्यायालय ने बैतूल जिला कलेक्टर सहित कई अधिकारियों को बनाया पार्टी

 

मनीष कुमार राठौर

 

8109571743

 

भोपाल / बैतूल । मध्यप्रदेश के बैतूल जिलें में स्थित ICEM इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के आगे पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड सहित बैतूल जिले के प्रशासनिक अधिकारी नतमस्तक है, क्योंकि इतनी बड़ी बारूद कंपनी किसके संरक्षण में समय से पहले चालू करते हुए कुछ लाइसेंस बीना लिए धड़ल्ले से संचालित हो रही थी । जिस पर बैतूल जिला प्रशासन के द्वारा किसी प्रकार की कोई बड़ी कार्यवाही आज दिनांक तक नहीं की गई, वही ग्रामीण इस कंपनी को बंद करने के लिए कई बार ज्ञापन देने के साथ शासन प्रशासन के दरवाजे पर जा कर दर दर की ठोकरें खा रहे थे परंतु किसी ने एक न सुनी । मध्यप्रदेश में शासन-प्रशासन किस प्रकार से सोया रहता है या जानबूझकर ऐसे लोगों को संरक्षण देता है जो अवैध तरीके से कार्य कर रहे होते हैं और जिसके बावजूद भी इन पर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई करने से परहेज करते हुए अपनी वाहवाही लूटते हैं । आखिर मुलताई और बैतूल क्षेत्र के किन अधिकारियों नेताओं के संरक्षण में चल रही है कंपनी ? बारूद से ब्लास्ट करते हुए दो प्लेटों को सालों से जोड़ रही कंपनी के पास पूर्ण दस्तावेज नहीं होते हुए भी धड़ल्ले से क्षेत्र में संचालित करते हुए अपना काम कर रही थी जिसकी जानकारी क्या अधिकारियों को नहीं थी ? या इन अधिकारियों को जानकारी होने के बाद भी इन्हें किसी प्रकार का लाभ हो रहा था जो इस कंपनी पर कार्यवाही नहीं की गई ? आखिर क्या कारण है कि इतनी बड़ी मात्रा में ब्लास्ट करने वाली कंपनी यूं ही ग्रामीण क्षेत्र में संचालित होती रही और अधिकारी सोते रहे ?

 

क्या होता है आईकैम इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में ?

 

मुंबई की यह कंपनी बैतूल जिले की मुलताई तहसील के ग्राम अंभोरी में स्थित है जहां पर क्लैड प्लेट को जोड़ने के लिए खोली गई है यह कंपनी के द्वारा अपने मुंबई स्थित प्लांट से सिर्फ प्लेटो को लाकर हेवी ब्लास्टिंग के द्वारा जोड़कर इन प्लेटो को वापस मुंबई में कारखाने ले जाकर उपकरण तैयार करती है । ग्रामीणों के अनुसार यहां कंपनी कभी-कभी दिन में 3 से 5 बार ब्लास्टिंग करती है और कभी तो इनकी ब्लास्टिंग इतनी तेज होती है कि घरों में भूकंप के झटके कंपन जैसा महसूस होता है इसके साथ ही ग्रामीणों ने बताया कि यहां कंपनी अत्यधिक मात्रा में बारूद का इस्तेमाल करती है जिससे कई लोगों के घरों में दरारे तक आ गई है और कुछ मिट्टी के मकान तो जमींदोज भी हो चुके हैं ।

 

क्या कहना है

 

कॉल किया गया परंतु उन्होंने द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया ।

 

अमनबीर सिंह कलेक्टर जिला बैतूल

 

इस कंपनी के खिलाफ बहुत से सबूत मिले हैं जिससे पर्यावरण को नुकसान होने की संभावना ग्रामीणों ने जताई है साथ ही कुछ लाइसेंस लेकर भी जानकारी प्राप्त हो रही है

 

रोहित शर्मा एडवोकेट एनजीटी न्यायालय

 

 

 

अगले अंक में देखिए ।

 

कैसे सरपंच सचिव को अपने साथ ले कर कंपनी ले रही है प्रमाण पत्र ?

 

क्या या ब्लास्टिंग कंपनी आप बंद होने वाली है ?

Related posts

आगामी त्योहारों को लेकर थाने में आयोजित हुई शांति समिति की बैठक

MPCG NEWS

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मिला मोबाईल, अब असानी से पोषण ट्रेकर एप्प में होगी एन्ट्री

MPCG NEWS

थाना शिवरीनारायण में अवैध रूप से स्टार इंडिया सेटअप बॉक्स बिक्री करने वाले फरार आरोपी को शिवरीनारायण पुलिस ने किया गिरफ्तार*         

MPCG NEWS

Leave a Comment